!!! पंचक – अर्थ, योग, प्रकार !!!

“पंचक” का नाम सभी ने सुना होगा, लेकिन शायद उसका अर्थ ज्यादा लोग नहीं जानते.. अक्सर हिन्दू धर्म में शुभ कार्य जैसे शादी ब्याह, घर वास्तु, पूजा पाठ करने के समय पंचक को देखा जाता है

आज हम पंचक को समझने की कोशिश करते हैं, साथ ही जानेंगे की किस तरह ये ज्योतिष गुणों से जुड़ा हुआ है.. हमें पंचक से घबराने की जरूरत नहीं, बल्कि आप स्वयं ही जान सकते हैं कि ये कब और कैसे होता है।

वैदिक ज्योतिष में पांच नक्षत्रों के विशेष मेल से बनने वाले योग को पंचक कहा जाता है। जब चंद्रमा कुंभ और मीन राशि पर रहता है तो उस समय को पंचक कहा जाता है। चंद्रमा एक राशि में लगभग ढाई दिन रहता है इस तरह इन दो राशियों में चंद्रमा पांच दिनों तक भ्रमण करता है।
इन पांच दिनों के दौरान चंद्रमा पांच नक्षत्रों धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद और रेवती से होकर गुजरता है। अतः ये पांच दिन पंचक कहे जाते हैं।

“महत्वपूर्ण है पंचक”: हिंदू संस्कृति में प्रत्येक कार्य मुहूर्त देखकर करने का विधान है। इसमें सबसे महत्वपूर्ण है पंचक। जब भी कोई कार्य प्रारंभ किया जाता है तो उसमें शुभ मुहूर्त के साथ पंचक का भी विचार किया जाता है। नक्षत्र चक्र में कुल 27 नक्षत्र होते हैं। इनमें अंतिम के पांच नक्षत्र दूषित माने गए हैं। ये नक्षत्र धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद और रेवती होते हैं।
प्रत्येक नक्षत्र चार चरणों में विभाजित रहता है। पंचक धनिष्ठा नक्षत्र के तृतीय चरण से प्रारंभ होकर रेवती नक्षत्र के अंतिम चरण तक रहता है। हर दिन एक नक्षत्र होता है इस लिहाज से धनिष्ठा से रेवती तक पांच दिन हुए। ये पांच दिन पंचक होता है।

“इसलिए देखना जरूरी है पंचक”: पंचक यानी पांच। माना जाता है कि पंचक के दौरान यदि कोई अशुभ कार्य हो तो उनकी पांच बार आवृत्ति होती है। इसलिए उसका निवारण करना आवश्यक होता है। पंचक के दौरान कुछ कार्यों को करने की मनाही रहती है।

“पंचक के 5 प्रकार”:

रविवार को शुरू होने वाला पंचक रोग पंचक कहलाता है।
सोमवार को शुरू होने वाला पंचक राज पंचक कहलाता है।
मंगलवार को शुरू होने वाला पंचक अग्नि पंचक कहलाता है।
शुक्रवार को शुरू होने वाला पंचक चोर पंचक कहलाता है।
शनिवार को शुरू होने वाला पंचक मृत्यु पंचक कहलाता है।

इसके अलावा बुधवार और गुरुवार को, सोमवार और मंगलवार के पंचक के समान माना जा सकता है। ~~~

48 thoughts on “!!! पंचक – अर्थ, योग, प्रकार !!!”

  1. You completed certain good points there. I did a search on the theme and found the majority of people will consent with your blog. Beverlie Mathias Dambro

  2. Today, I went to the beachfront with my children. I found a sea shell and
    gave it to my 4 year old daughter and said “You can hear the ocean if you put this to your ear.”
    She put the shell to her ear and screamed. There was a hermit crab inside and it pinched her ear.
    She never wants to go back! LoL I know this is totally off topic but I had to tell someone!

  3. It is the best time to make a few plans for the future and it’s time
    to be happy. I’ve learn this publish and if I may just
    I want to counsel you few fascinating things or advice.
    Perhaps you could write next articles referring to this article.
    I desire to read even more issues about it!

  4. It’s perfect time to make some plans for the future and it’s time to be
    happy. I’ve read this post and if I could I desire to suggest
    you some interesting things or tips. Perhaps you could write next articles referring to this article.
    I want to read even more things about it!

  5. Undeniably believe that which you said. Your favorite justification appeared to be on thenet the easiest thing to be aware of. I say to you, I certainly get irked whilepeople consider worries that they plainly don’t know about.You managed to hit the nail upon the top as well as defined out the whole thingwithout having side effect , people could takea signal. Will probably be back to get more. Thanks

  6. Appreciating the commitment you put into your website and in depth information you provide.
    It’s great to come across a blog every once in a while that
    isn’t the same unwanted rehashed material. Excellent read!
    I’ve bookmarked your site and I’m adding your RSS
    feeds to my Google account.

  7. Its like you learn my mind! You appear to know a lot about this, such as
    you wrote the guide in it or something. I feel that you
    simply can do with some % to power the message house a bit,
    however other than that, that is wonderful blog. A
    fantastic read. I will certainly be back.

  8. Hi, There’s no doubt that your website might be having browser
    compatibility problems. Whenever I look at
    your web site in Safari, it looks fine however, when opening in Internet
    Explorer, it’s got some overlapping issues. I merely wanted
    to give you a quick heads up! Besides that, great blog!

Leave a Comment

Your email address will not be published.